Latest News

Monday, 28 March 2016

कुपोषण के कारण नही होता शारीरिक ,मानसिक विकास


                                                                     क्राइम अपडेट

बदायूं यूपी- नव निर्वाचित ग्राम प्रधानों को समस्त शासकीय योजनाओं की समुचित जानकारी होने पर ही जनता को पूर्ण लाभ मिल सकता है। जनपद को कुपोषण मुक्त बनाने हेतु प्रत्येक ग्राम प्रधान, नागरिकों का सहयोग अपेक्षित हैै। कुपोषण के कारण बच्चे का दिन प्रतिदिन वजन कम होता रहता है, जिससे उसका शारीरिक और मानसिक विकास नहीं होता है।

मुख्य विकास अधिकारी, प्रभारी जिलाधिकारी प्रताप सिंह भदौरिया ने सोमवार को ग्राम प्रधानों से रूबरू होते हुए उक्त विचार व्यक्त किए। ब्लाक दहगवां एवं सहसवान में राज्य पोषण मिशन के अन्र्तगत नव निर्वाचित ग्राम प्रधानों को एक दिवसीय प्रशिक्षण दिया गया। उन्होंने जनपद को कुपोषण मुक्त बनाने हेतु ग्राम प्रधानों से सहयोग की अपेक्षा की और स्वास्थ्य, कृषि, मनरेगा आजीविका मिशन, मातृत्व सप्ताह, लोहिया तथा इन्दिरा आवास सहित विभिन्न योजनाओं के सम्बन्ध में विस्तृत जानकारी ली। इस अवसर पर प्रभारी सीएमओ डा. नरेन्द्र कुमार, मनरेगा के उपायुक्त आरपी सिंह जिला बेसिक शिक्षा अधिकारी आनंद प्रकाश शर्मा, जिला समाज कल्याण अधिकारी एनके पाठक, जिला कार्यक्रम अधिकारी निर्मल शर्मा सहित सम्बन्धित खण्ड विकास अधिकारियों ने अपनी अपनी योजनाओं के सम्बन्ध में विस्तृत जानकारी दी।

-----

सभी ब्लाकों में होगा कार्यक्रम

बदायूं यूपी- राज्य पोषण मिशन के तहत नव निर्वाचित ग्राम प्रधानों को प्रशिक्षण देने हेतु सभी ब्लाकों में कार्यक्रम आयोजित किए जाएंगे। 29 मार्च को ब्लाक उझानी, कादरचैक, 30 को समरेर, दातागंज, एक अप्रैल को म्याऊं, उसावां, दो को सलारपुर, वजीरगंज, चार को बिसौली, आसफपुर, छह को अम्बियापुर, इस्लामनगर तथा सात अप्रैल को विकास खण्ड जगत में प्रशिक्षण दिया जाएगा।

-----

तीन हजार से अधिक बच्चे अति कुपोषित

बदायूं यूपी- राज्य पोषण मिशन के तहत आयोजित प्रशिक्षण में उजागर हुआ कि ब्लाक सहसवान और दहगवां में कुल 49658 बच्चों में 3042 बच्चे गम्भीर रूप से कुपोषित है। ब्लाक दहगवां में 23692 बच्चों में 1081 तथा ब्लाक सहसवान में 25966 बच्चों में 1961 बच्चे अति कुपोषण के शिकार है। सीडीओ ने ग्राम प्रधानों से सहयोग करने की आपेक्षा करते हुए बच्चों को संतुलित आहार और साफ सफाई पर विशेष बल देने को कहा।

No comments:

Post a Comment

Tags

Recent Post