Latest News

Sunday, 3 April 2016

लोकतन्त्र बचाओ पदयात्रा के दौरान हरीश रावत ने साधा नरेंद्र मोदी पर निशाना








रुड़की: (शारिक अली) पूर्व मुख्यमंत्री हरीश रावत ने लोकतंत्र बचाओ पदयात्रा के दौरान प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी पर जमकर निशाना साधा। रावत ने मोदी पर लोकतंत्र की हत्या का आरोप लगाते हुए कहा कि उन्होंने गंडासे से उन पर वार किया है, जिस कारण वह आज पूर्व सीएम नहीं वरन 'सिर कटा' मुख्यमंत्री हैं। मोदी ने बागी विधायकों के घर 25-25 करोड़ रुपये देकर एक लोकतांत्रिक एवं लोकप्रिय सरकार को गिराने की साजिश रची, लेकिन जब साजिश कामयाब नहीं हुई तो राष्ट्रपति शासन लगा दिया। भाजपा का एक बड़ा नेता तो नोटों की बोरी लेकर अभी भी उत्तराखंड में डेरा डाले हुए है। जनता से अपील करते हुए कहा कि यदि मुझसे कोई गलती हुई है तो उसे बताएं, यदि प्रदेश का विकास करना गलती है तो यह गलती वह बार-बार दोहराएंगे।
रविवार को कांग्रेस की ओर से सती मोहल्ले में लोकतंत्र बचाओ रैली में रावत ने यह बातें कही। कहा कि जिस समय उन्होंने प्रदेश की बागडोर संभाली, उस समय प्राकृतिक आपदा के चलते प्रदेश का 75 फीसद हिस्सा बर्बाद हो गया था। माना जा रहा था कि चारधाम की यात्रा 10 साल तक नहीं हो पाएगी, लेकिन उन्होंने एक साल के अंदर चारधाम की यात्रा को शुरू कर दिया। इस साल एक करोड़ यात्री दर्शन कर सकेंगे। भाजपा पर निशाना साधते हुए कहा कि भाजपा देश में अमन और शांति नहीं चाहते हैं।
आरोप लगाया कि मुस्लिम के घर बीफ होने की अफवाह फैलाकर हत्या एवं दंगे कराना बीजेपी का काम है। जिस तरह से प्रदेश में विकास हो रहा था, उससे भाजपा के लोग बौखला गए और उन्हें लगने लगा कि वह कभी सत्ता में नहीं आ पाएंगे, इसलिए उन्होंने लोकतंत्र की हत्या करने का काम किया है। कहा कि इस साल सरकार ने गांव गरीब, मजदूर, बेरोजगारों का बजट पास किया था लेकिन भाजपा ने इस बजट को रोकने का काम किया है। उन्होंने कहा कि रुड़की को जिला बनाने की कार्यवाही तेजी से चल रही है। उन्होंने कहा कि विधायक ममता राकेश और फुरकान अहमद के साथ रुड़की जनता को बधाई, जिसने इस यात्रा में सहयोग किया।
इससे पहले, पूर्व राज्यमंत्री मनोहर लाल शर्मा की अगुवाई में तमाम कार्यकर्ता सिविल लाइंस स्थित डाकघर में बाहर एकत्र हुए। रावत करीब दो घंटे देर से यहां पहुंचे। वह कार्यकर्ताओं के साथ सिविल लाइंस, नगर निगम पुल, मेन बाजार से होते हुए सती मोहल्ला पहुंचे। इस मौके पर भगवानपुर विधायक ममता राकेश, कलियर विधायक फुरकान अहमद, हज कमेटी के चेयरमैन राव शेर मोहम्मद, सेवादल के राष्ट्रीय कोआर्डिनेटर राजबीर रोड, पूर्व विधायक अम्बरीश कुमार, मेयर यशपाल राणा, सतपाल ब्रह्मचारी आदि मौजूद थे।
काले झंडे देख फूले पुलिस के हाथ-पांव
रविवार सुबह सिविल लाइंस बाजार में विद्युत पोल पर जगह-जगह काले झंडे लगा दिए गए। इस बात की जानकारी मिलने से पुलिस-प्रशासन के हाथ-पांव फूल गए। आनन-फानन नगर निगम से ट्राली लिफ्टर को बुलाकर इन झंडों को उतरवाया गया। इतना ही नहीं लोकतंत्र बचाओ पद यात्रा को देखते हुए पूरे सिविल लाइंस बाजार में दुकानों की छतों से लेकर दुकानों के बाहर पुलिसकर्मियों की तैनाती कर दी गई। खुफिया विभाग के तमाम अधिकारी यह जानने का प्रयास करते रहे कि आखिरकार किसने यह काले झंडे लगाये हैं। देर शाम तक इस बारे में कोई जानकारी नहीं मिल पाई।

पूर्व मुख्यमंत्री हरीश रावत की पदयात्रा को लेकर पुलिस प्रशासन के सांस फूली रही। पदयात्रा को लेकर सैकड़ों पुलिसकर्मी शहर में चप्पे-चप्पे पर तैनात किए गए थे। देहरादून में हुए बवाल को देखते हुए पुलिस और खुफिया विभाग के लोग विभिन्न दलों के लोगों पर पैनी नजर रखे हुए थे। देर शाम को कार्यक्रम संपन्न होने के बाद ही पुलिस-प्रशासन ने राहत की सांस ली।

No comments:

Post a Comment

Tags

Recent Post