Latest News

Thursday, 21 April 2016

200 साल की तपस्या से जिंदा लाश जैसा बन गया ये भिक्षु


उलानबटार। मंगोलिया में एक ऐसी ममी मिली है, जो 200 सालों से रखी गई है। पर अब तक वो पूरी तरह से सुरक्षित है। इस ममी को देखकर ऐसे लगता है, जैसे कोई साधु समाधि में हो, और वो अब उठ खड़ा होगा। वैसे, कुछ लोगों का मानना है कि जिसे हम ममी समझ रहे हैं, हो सकता कि वो जीवित हो और ध्यान की मुद्रा में शताब्दियों से पड़ा हो।

ये ममी एक बौद्ध भिक्षु की है, जो 15 जनवरी 2015 को खोजी गई थी। पर इसके बारे में अब जानकारी दी गई है, क्योंकि इसपर शोधकार्य चल रहे थे। ये ममी मंगोलिया के सोंगिनोखैरखान प्रांत में मिली है। ये ममी पूरी तरह से ध्यान की मुद्रा में है। जो किसी बौद्ध भिक्षु की है। इस ममी के बारे में अंदाजा लगाया जा रहा है कि ये बौद्ध लामा दाशी-दोर्झो इतिगिलोव हो सकते हैं। दाशी तिब्बतन मूल के बौद्ध लामा थे। उनका बौद्ध धर्मावलंबियों पर खास प्रभाव अब भी है।

बौद्ध भिक्षु के इस शव को ऊंट के चमड़े से सुरक्षित किया गया है। फिलहाल इसे राजधानी उलन बटोर के राष्ट्रीय केंद्र में रखा गया है, जहां फॉरेंसिंक एक्सपर्ट जांच में जुटे हुए हैं।

No comments:

Post a Comment

Tags

Recent Post