Latest News

Friday, 15 April 2016

तंजील हत्याकांडः अब भाई और गवाहों को मुनीर से जान का खतरा



बिजनौर में एनआईए अधिकारी तंजील अहमद की हत्या में शामिल मुख्य आरोपी मुनीर के ना पकड़े जाने के चलते यूपी के डीजीपी जाविद अहमद ने बिजनौर पुलिस को रिपोर्ट लिखाने वाले तंजील के भाई रागिब और इस मामले में मुख्य गवाह इनामुल हक और बाॅबी को तुरन्त सुरक्षा उपलब्ध कराने के निर्देश दिए हैं। सूचना मिलते ही बिजनौर पुलिस ने इन्हें सुरक्षा उपलब्ध कराने की कार्यवाही शुरू कर दी है।



दरअसल मुख्य आरोपी मुनीर के फरार होने के कारण इन पर मुनीर की तरफ से खतरा मंडरा रहा है। इसी को देखते हुए यूपी के पुलिस महानिदेशक जाविद अहमद ने बिजनौर पुलिस को निर्देश दिए हैं। उन्होंने कहा है कि तीनों को तुरन्त सुरक्षा मुहैया कराई जाए।

दरअसल बिजनौर में 2 अप्रैल की रात में एनआईए अफसर तंजील अहमद की गोली मारकर हत्या कर दी गई थी। इस हत्याकांड में तंजील की पत्नी फरजाना की भी एम्स दिल्ली में मौत हो गई थी।

बता दें कि इससे पहले पुलिस महानिदेशक जाविद अहमद ने शार्प शूटर मुनीर पर पहले 50 हजार रुपए के घोषित इनाम को बढ़ाकर दो लाख रुपए कर दिया गया था। पुलिस ने हत्या के मामला सुलझाने का दावा किया है, लेकिन पखवाड़ेभर पहले एनआईए अधिकारी की हत्या के बाद से वह फरार है।

No comments:

Post a Comment

Tags

Recent Post