Latest News

Monday, 18 April 2016

साक्षी महाराज को उलेमाओं का करारा जवाब,कहा सस्ती लोकप्रियता के लिये दे रहें है बचकाना वयान





मुरादाबाद। विवादित बयानों को लेकर अक्सर चर्चा में रहने वाले भाजपा सांसद साक्षी महाराज ने इस्लाम में महिलाओं की हैसियत जूती कर तरह है बयान देकर कोहराम मचा दिया है। साक्षी महाराज को आड़े हाथों लेते हुए उलेमाओं ने उन पर पलटवार किया है। उलेमाओं ने कहा है कि सांसद साक्षी का बयान बचकाना है। उन्हें इस्लाम की जानकारी ही नहीं है। उन्होंने कहा है कि साक्षी महाराज सस्ती लोकप्रियता हासिल करने के लिए इस तरह की हरकत कर रहे हैं।

पत्रिका की रिपोर्ट के अनुसार शिया इमाम डॉ. सैयद मुजफ्फर सुलतान तोराबी कहते हैं इस्लाम ने औरत को क्या रुतबा दिया है इसे इस्लाम को न मानने वाले लोग क्या जानें। जो लोग महिलाओं के बारे में गलत बयानी कर रहे हैं वे नादान हैं। इस्लाम ने तो औरतों को 14 सौ साल पहले उनका हक दिया है। अल्लाह के रसूल ने जमीन जायदाद में उनकी हिस्सेदारी भी तय कर दी है। मुस्लिम औरतें पर्दे में रहते हुए भी तालीम व तरक्की की राह पर हैं।

वहीं मुरादाबाद के इमाम सैयद मासूम अली आजाद का कहना है कि इस्लाम ने ही औरत को उसके हकूक दिए हैं। उनके जीने की राह दिखाई है। तालीम व तरक्की की हिदायत इस्लाम ने ही दी है। अल्लाह के रसूल हजरत मुहम्मद सल. ने औरत का सरपरस्त मर्द को करार दिया है। यही वजह है कि इस्लाम में औरत को पर्दा रखने की हिदायत की गई है।

यह कहा था साक्षी महाराज ने
साक्षी महाराज ने कहा था कि मस्जिदों में महिलाओं को नमाज पढ़ने का हक दिया जाना चाहिए। उनके मुताबिक इस्लाम में महिलाओं को पुरुषों की तुलना में कम इज्जत मिलती है। साक्षी महाराज ने मुस्लिम धर्मगुरुओं पर भी निशाना साधा और कहा कि देश को संविधान के हिसाब से चलना चाहिए न कि फतवों से। साक्षी महाराज ने कहा कि हर मामलों में हिंदुओं को निशाना बनाया जाता है यह ठीक नहीं है। उन्होंने कहा कि आदलत सिर्फ हिंदुओं के मामले में दखल देती है अब उसे इस्लाम के मामलों में भी दखल देना चाहिए। महाराष्ट्र में पड़े रहे सूखे पर हाल ही में शंकराचार्य की तरफ से दिए बयान पर भी साक्षी महाराज ने यह प्रतिक्रिया दी थी।

No comments:

Post a Comment

Tags

Recent Post