Latest News

Friday, 8 April 2016

तंजील की हत्या एक मर्डर नहीं, बल्कि आतंकी घटना, बर्खास्त हो निकम्मी सरकार


मेरठ
ऑल इंडिया मजलिस-ए-इत्तेहादुल मुस्लिमीन की मेरठ टीम ने एनआईए डीएसपी तंजील अहमद की हत्या के विरोध में राज्यपाल को सम्बोधित ज्ञापन डीएम पंकज यादव को सौंपा।
एआईएमआईएम के प्रदेश अध्यक्ष शौकत अली के निर्देश पर पार्टी के नेता शादाब चौहान के नेतृत्व में एमआईएम की मेरठ टीम डीएम पंकज यादव से मिली। शादाब चौहन ने कहा कि अगर अखिलेश सरकार में प्रशासनिक अधिकारी ही सुरक्षित नहीं तो आम जनता का क्या होगा? उन्होंने मांग की कि ऐसी निकम्मी सरकार को बर्खास्त कर देना चाहिए।
उन्होंने कहा कि इस मामले की सीबीआई जांच होनी चाहिए। इससे हमारे मुल्क की बेईज्जती हुई है और साथ ही पीएम मोदी को भी इस पर दुख जाहिर करना चाहिए था।
बड़े अफसोस की बात है कि एक एनआईए का जांबाज शेर की शहादत पर देशभक्ति का ढोल पीटने वाली मोदी सरकार का कोई मंत्री नहीं पहुंचा। और उनकी मंत्री निरंजना ने तो तंजील अहमद को पाकिस्तानी तक बोल दिया।
अखिलेश सरकार के मंत्री आजम खां की जुबान पर भी तंजील अहमद के मामले में ताला लगा है।
तंजील की हत्या एक मर्डर नहीं, बल्कि आतंकी घटना है। यह पहला मामला नहीं है, इससे पहले भी अखिलेश बाबू की सरकार में डीएसपर जिया उन हक को कुर्बानी देनी पड़ी थी। तब राजा भैया को चंद महीने में क्लीन चिट मिल गयी थी। लेकिन हजारों मुसलमान बेगुनाह जेलों में बंद हैं और अखिलेश सरकार कुछ नहीं कर रही।

No comments:

Post a Comment

Tags

Recent Post