Latest News

Friday, 15 April 2016

प्रशासन की कार्यवाही से बौखलाये खनन माफिया पत्रकारों को दे रहे हैं धमकी-



सितारगंज :- प्रशासन के नंधौर के साथ ही ग्राम उकरौली व साधूनगर में कैलाश नदी से रेता बजरी के अवैध खनन पर शिकंजा कसते ही खनन माफिया बौखला गये हैं। उन्होंने अवैध खनन का काला धंधा बंद दोने के लिए पत्रकारों को जिम्मेदार ठहराते हुये धमकाना शुरू कर दिया हैं।
हल्द्वानी रोड स्थित कैलाश नहीं से हर वर्ष रेता बजरी का खनन किया जाता है। इस वर्श भी खनन चलता रहा। इससे लिये खनन पट्टे दिये गये थे। जब तक पट्टों पर खनन किया गया वह भी नियमानुसार नहीं हुआ। वर्तमान में किसी भी खनन पट्टे पर खनन नहीं हो रहा। प्रदेश में राष्ट्रपति शासन के चलते शासन व प्रशासन ने कड़ा रूख अपना रखा था। इसके बावजूद अवैध तरीके से खनन हो रहा था। अवैध खननकर्ता तड़के ही ताम झाम के साथ नदी में पहुंच जाते थे। वहां राजस्व व वन भूमि से रेता बजरी का अवैध खनन किया जाता था। वे छोटी-छोटी ट्रालियों से नदी से खनन किये गये रेता बजरी को एक जगह एकत्र कर देते है। बाद में उन्हें  जेसीबी मशीनों के माध्यम से बड़े वाहनों में भरकर ले जाया जाता है। चूंकि खनन बंद होने के कारण रायल्टी तो काटी  नहीं जा रही। ऐसे में अवैध खननकर्ता मोटा मुनाफा भी कमा रहे हैं।

चार दिन पूर्व ही तहसीलदार ने उकरौली के खनन क्षेत्र में छापा मारकर सात अवैध खननकर्ताओं के खिलाफ 98 लाख रुपये  जुर्माना ठोका। साथ ही पुलिस को सातों के खिलाफ मुकदमा दर्ज करने का आदेश भी दिया। इससे अवैध खननकर्ताओं का काम चैपट हो गया हैं। अब वे बौखला गये हैं। वे इसके लिए पत्रकारों को जिम्मेदार मान रहे हैं। हालांकि वे अवैध कार्य कर खासा धन कमा चुके हैं। इसलिए उनके हौसले बुलंद हैं। वे अपने सामने न तो पुलिस व प्रशासनिक अधिकारियों को कुछ समझ रहे हैं न लोकतंत्र के चौथे स्तंभ मीडिया को। इसी को लेकर पत्रकारों की बैठक हुई। जिसमें माफियाओं के पत्रकारों को धमकाने की कड़े शब्दोें में निंदा की गई। प्रशासन व पुलिस से मांग की गई कि ऐसे माफियाओं के खिलाफ कड़ी कार्यवाही की जाये। स्टेट यूनियन आफ वर्किंग जर्नलिस्ट के शाखा अध्यक्ष मुजाहिद अली ने कहा खनन माफिया दे सकते हैं किसी बड़ी घटना को अंजाम। उन्होंने बताया कि पत्रकारों का उत्पीड़न किसी भी कीमत पर बर्दाश्त नहीं किया जायेगा। बैठक में यूनियन के प्रदेश अध्यक्ष शंकर दत्त शर्मा, यामीन मलिक, अंकित सिंह, उमेश पाण्डे, अंकुर ढल, प्रकाश भट्ट, रमेश यादव, रामप्रताप भारद्वाज, रामआसरे भारद्वाज, विमल गुप्ता, चेतन शर्मा, आषीश पाण्डे, गुरनाम सिंह गामा, अमित रस्तोगी, अतुल शर्मा आदि शामिल थे।

No comments:

Post a Comment

Tags

Recent Post