Latest News

Wednesday, 6 April 2016

साध्वी प्राची के बाप नहीं, बल्कि हमारे उलमाओं के फतवे की वजह मुल्क हुआ आजाद





‘देवबंद’ का मदरसा सिर्फ मुस्लिमों का नहीं, यह हिंदुस्तान की शान है


लखनऊ

एआईएमआईएम नेता शादाब चौहान ने साध्वी प्राची के बयान पर पलटवार किया है। बता दें कि बीते दिन साध्वी प्राची ने दारूल उलूम देवबंद के खिलाफ बयान दिया था। दारूल उलूम देवबंद ने भारत माता की जय बोलेने के खिलाफ फतवा जारी किया था। मीडिया रिपोर्ट्स के मुताबिक साध्वी ने सूरत में दारूल उलूम देवबंद को अनपढ़ गंवारों की फौज बताया था।







पढ़िए शादाब ने क्या कहा...
शादाब चौहान ने  बातचीत के दौरान कहा कि देवबंद का मदरसा सिर्फ मुसलमानों का नहीं, बल्कि पूरे हिंदुस्तान की शान है। और जंगे आजाद में साध्वी प्राची के बाप नहीं बल्कि हमारे उलमाए इकराम के फतवे की वजह से ये मुल्क आजाद हुआ। उस वक्त आरएसएस का वुजूद भी नहीं था।

शादाब ने और क्या कहा-
-उलमा-ए-इकराम ने मुल्क में हमेशा अमन कायम करने की कोशिश की ।
-लेकिन कुछ बेहूदा किस्म के लोग मदरसों को बदनाम करते हैं।
-साध्वी प्राची को बोलने की आजादी मिली है, तो इन्हीं मदरसों के उलमा-ए-इकराम की कुर्बानियों की वजह से मिली है।
-ऐसे लोगों पर सख्त कार्रवाई होनी चाहिए, ये लोग मुल्क की सालिमियत के लिए खतरा हैं।
-साध्वी प्राची का दिमाग खराब हो गया है, आगरा के पागलखाने में करना चाहिए भर्ती

No comments:

Post a Comment

Tags

Recent Post