Latest News

Sunday, 3 April 2016

NIA अधिकारी तंजील ने मौत से पहले बचाई बच्चों की जान









बिजनौर। नैशनल इन्वेस्टिगेशन एजेंसी (NIA) के अधिकारी तंजील अहमद पर हमले में उनकी पत्नी और दो बच्चे बच गए। हमलावरों के आते ही तंजील को हमले का अंदेशा हो गया था। उन्होंने तुरंत पिछली सीट पर बैठे बच्चों को छिपने के लिए बोल दिया था। दोनों बच्चे सीट के नीचे छुप गए, जिससे उनकी जान बच गई।

पुलिस का कहना है कि हमलावरों के निशाने पर सिर्फ तंजील अहमद ही थे। वारदात को बड़ी साजिश के तहत अंजाम दिया गया। तंजील अहमद मूलरूप से बिजनौर के सहसपुर के रहने वाले थे। वह परिवार के साथ दिल्ली में रहते थे। परिजनों ने बताया कि शुक्रवार को वह बिजनौर आए थे।

शनिवार रात तंजील अहमद की भांजी की शादी थी। इसमें शामिल होने के लिए उनकी पत्नी फरजाना और बेटा शाहबाज (11) और बेटी जिमनीश (15) भी उनके साथ थे। शनिवार देर रात करीब 12:40 बजे वह अपनी कार से परिवार के साथ घर लौटने लगे। रास्ते में तालकटोरा पुलिया पर बने ब्रेकर की वजह से जैसे ही उन्होंने कार धीमी की तभी पहले से घात लगाए बाइक सवार दो बदमाशों ने घेर लिया।

No comments:

Post a Comment

Tags

Recent Post