Latest News

Wednesday, 4 May 2016

नही थम रही अखलेश के विधायकों की गुंडागर्दी,आश्रम पर किया कब्जा


बाराबंकी। यूपी सरकार अपने विधायकों की गुंडागर्दी के चलते विपक्ष के निशाने पर है और अगले साल विधानसभा का चुनाव होना है। ऐसे में सपा को चुनाव में बड़ा नुकसान उठाना पड़ सकता है! लिहाजा इस नुकसान से बचने के लिए अखिलेश ने अपने विधायक रामपाल को 6 साल के लिए पार्टी से बाहर का रास्ता दिखा दिया। लेकिन उससे भी उनका पीछा नहीं छूटा और अब बाराबंकी से अखिलेश के विधायक सुरेश यादव ने भू-माफियाओं को संरक्षण देकर शहर के पंचम दास कुटी की जमीन पर कब्जा करा दिया, हरे पेड़ों को कटवा दिया, मंदिर को क्षतिग्रस्त कर पुजारियों की पिटाई कर दी!

वहीं, दबंगों के चंगुल से जान बचाकर भागे मंदिर के पुजारी बिहारी दास, आश्रम और मंदिर के संरक्षण और विकास का काम करने वाली अखिल भारतीय उदासीन संप्रदाय संगत लखनऊ की संस्था के सभापति धर्मेंद्र दास के साथ कोतवाली नगर में आरोपियों अजय यादव, रमेश  निगम, राजू, रामलखन श्रीवास्तव, रामू  जायसवाल, अमरमुनी  चेला विक्रम दास सहित डॉक्टर तिवारी के खिलाफ तहरीर देकर कार्रवाई करने की मांग की है।

एसपी का कहना है मामले में अज्ञात लोगों के खिलाफ मुकदमा दर्ज किया गया है। जांच की जा रही है, जल्द ही आरोपियों को गिरफ्तारी कर लिया जाएगा! जबकि संतों का आरोप है कि नामजद तहरीर देने के बाद भू माफियाओं को संरक्षण देने में विधायक का नाम चर्चा में आने के बाद पुलिस ने अज्ञात लोगों के खिलाफ मुकदमा दर्ज किया है।

घटना के बाद से पंचमदास बाबा कुटी पर उदासीन पंचायती बड़ा अखाड़ा सरुफ नगर खदरा सहित दर्जनों साधू संत और महन्त उसी जमीन पर धरने पर बैठ गए हैं। उन्होंने आरोप लगाया कि नामजद तहरीर देने के बाद भी पुलिस ने अज्ञात लोगों के खिलाफ मुकदमा दर्ज किया है जिसके चलते संतों की जान का ख़तरा बना हुआ है।

वहीं ईनाडू इंडिया ने जब विधायक का पक्ष जानना चाहा तो विधायक का गुस्सा सातवें आसमान पर पहुंच गया और कहने लगे हम उन्हें बलैक मेल कर रहे हैं। उन्होने बड़े ही तल्ख लहजे में कहा कि पहले बाबा मर गया था, अब वो जिन्दा हो गया है। उनसे इस मामले में कुछ लेना देना नहीं है!

No comments:

Post a Comment

Tags

Recent Post