Latest News

Wednesday, 18 May 2016

देवबंदी-बरेलवी लडाई खत्म करने के लिए बरेली से हुई नयी पहल


देवबंदी-बरेलवी लडाई खत्म करने के लिए बरेली से हुई नयी पहल
काफी दिनों से इत्तेहाद को लेकर की जा रही चर्चाओं को विराम देते हुए बरेली दरगाह-ए-आला-हजरत की से इस विवाद को खत्म करने की पहल की गयी है। इसके तहत बरेलवी मुफ्तियों का एक पैनल गठित किया गया है। साथ ही इनकी तरफ से यह उम्मीद जताई जा रही है कि देवबंदी भी एक पैनल बनाएंगे, जिसमें दोनों मसलकों के आलिम वर्षो पुराने मतभेद को खत्म करने का प्रयास करेंगे।




क्यों बनाना पडा पैनल

गौरतलब है की पिछले पखवाडे मौलाना तौकीर रजा के देवबंदी दौरे से उठे विवाद ने काफी तूल पकड लिया था जिसे लेकर खानदाने आला हजरत में उनके बायकाट की बात तक कही गयी थी. वहीं मौलाना तौकीर रजा ने इसे वक्त की जरूरत बताया था।

इस मद्दे को लेकर बरेली दरगाह से ऐलान किया गया था की हम इत्तेहाद के लिए तैयार है बस देवबंदी चार शर्तों को मान ले. हालंकि देवबंद की तरफ से ये जवाब आया था की जिन शर्तों की बात बरेली के मौलाना कर रहे हैं उनपर पहले की काफी चर्चा की जा चुकी है और इसका जवाब पहले ही दिया जा चूका है.

क्या काम होगा इस पैनल का    

इससे एक कदम आगे बढते हुए बरेली की तरफ से देवबंदी-बरेलवी लडाई को खत्म करने के लिए एक पैनल बनाया गया है इस पर दरगाह की ओर से जारी प्रेस नोट में कहा गया कि इत्तेहाद तभी हो सकता है कि जब देवबंद आलिमों की तरफ से की गई खुदा और रसूल की शान में गुस्ताखी मसले पर कोई हल निकले। कहा गया कि इसके लिए दोनों मसलको के आलिमों का पैनल बने जो आपस में बातचीत करे और यह तय हो कि देवबंदी आलिमों ने अल्लाह और रसूल की शान में गुस्ताखी की या नहीं। फिर जो फैसला आए आवाम में आम किया जाए।

वैसे इसमें दो राय नही है देश के मुसलमान इन दोनों इदारो पर नजर गडाएं किसी उम्मीद की नजर से देख रहे हैं.

No comments:

Post a Comment

Tags

Recent Post