Latest News

Monday, 2 May 2016

'पाकिस्तानी हूं, फिर भी मैंने शादी से पहले सेक्स किया'


नई दिल्ली।  पाकिस्तान की एक राइटर और मानवाधिकार कार्यकर्ता जाहरा हैदर का एक आर्टिकल सोशल मीडिया पर छाया हुआ है। जाहरा के इस आर्टिकल में बताया गया है कि सेक्स को पाकिस्तान में किस नजर से देखा जाता है। आर्टिकल में लिखा है कि सेक्स पाकिस्तान में एक टैबू है।


जाहरा की यह राय वाइस ने छापी है। उसके बाद उनका यह आर्टिकल सोशल मीडिया पर वायरल हो गया है। ईनाडु की रिपोर्ट के अनुसार जाहरा के अनुसार वैसे तो पाकिस्तान दुनिया का सबसे ज्यादा पोर्न देखने वाला देश है, लेकिन यहां एक और सच ये भी है कि अगर यहां पर मर्द सेक्स करते पाया जाएं, तो उन्हें कुछ नहीं कहा जाता, लेकिन अगर एक लड़की शादी से पहले सेक्स करती पाई जाएं तो मामला बहुत गंभीर हो जाता है।

जाहरा के मुताबिक, वह 2012 में पढ़ाई करने के लिए कनाडा जाने से पहले करीब 12 लोगों को साथ सेक्स कर चुकी थी, लेकिन उसने कभी इस बारे में किसी को नहीं बताया। जाहरा ने लिखा कि दुनिया के सबसे ठरकी देश में सेक्स के प्रति इस तरह की मानसिकता होने के कारण हम कम उम्र में क्रिएटिव हो जाते हैं।

जाहरा ने लिखा कि पाकिस्तान में सेक्स कर पाना कोई आसान काम नहीं है। वहां पर ऐसा नहीं होता कि पैसे दो और सेक्स करो। बल्कि यहां पर लड़का-लड़की को पूरी प्लानिंग के साथ एक रूम बुक करना पड़ता है और लड़के के रूम में जाने के बाद लड़की 15 मिनट बाद ही कमरे में आ सकती थी, ताकि किसी को भी ये शक न हो दो जवान लड़के लड़कियां एक कमरे में है और सेक्स कर रहे हैं।

जाहरा ने बताया कि जब वो अपने 19वें जन्मदिन पर टोरोंटो पहुंची तो कई दिनों तक उसने छोटे कपड़े भी नहीं पहने और घर की इतनी याद आती थी कि वह सिर्फ पाकिस्तानी लोगों से ही दोस्ती करती थी। फिर उसे धीरे-धीरे एहसास हुआ कि यहां रहने वाले पाकिस्तानी लोग भी पाकिस्तान में रहने वाले लोगों की तरह ही है। उनकी भी वहीं मानसिकता थी।

जाहरा को टोरोंटो में सेक्सुअल कल्चर देखकर बहुत हैरानी हुई। उसने देखा कि वहां सेक्स में इस्तेमाल की जाने वाली चीजें खुलेआम बेचीं जा रही थी। वहां पर लोग समझते थे कि जाहरा पाकिस्तानी हैं, इसलिए वो धार्मिक कारणों से सेक्स नहीं करती।

जाहरा ने लिखा कि पाकिस्तान में मर्द कभी सेक्स करते वक्त औरत के नीचे नहीं जाता था। ये स्त्री विरोधी मानसिकता का असर था। फिर जाहरा को पता चला कि ये मर्दों की खुदगर्जी और ईगो था कि वह औरतों के साथ ओरल सेक्स नहीं करते थे।

जाहरा ने आर्टिकल में लिखा कि पाकिस्तान में सेक्स एजुकेशन जैसी कोई चीज स्कूल में नहीं होती इसलिए लोग यहां पर शादी से पहले सेक्स करते हैं और औरतों को गैरकानूनी तरीके से एबॉर्शन करते हैं, क्योंकि एबॉर्शन इस्लाम में हराम है, जब तक औरत की जान बचाने के लिए न किया जाए।

मानवधिकार कार्यकर्ता के मुताबिक, पाकिस्तानी सेक्स को सेक्स नहीं मानते, वो इसे एक टैबू मानते हैं और छुप कर सेक्स करते हैं, वो भी बिना सेफ्टी के। जाहरा कहती हैं कि वह आज अपनी सेक्सुअलिटी को अपनाती हैं और इस बात की परवाह बिल्कुल नहीं करती कि उसके घर वाले क्या सोचेंगे।

No comments:

Post a Comment

Tags

Recent Post