Latest News

Tuesday, 31 May 2016

दुल्हन ने सुहागरात पर पति को ज़हर देकर मौत की नींद सुलाया


काशीपुर। शादी के बाद सुहाग सेज पर साॅफ्टवेयर इंजीनियर पति को जहर देकर मौत की नींद सुलाने के बाद इंजीनियर के दिव्यांग बेटे को भी नशीला दूध पिला बेसुध कर लाखों की नकदी, आभूषण, एटीएम कार्ड और बैंक चेक समेट फरार हुई दुल्हन को आगरा पुलिस ने आज काशीपुर से गिरफ्तार किया है। वह कुण्डा थाना अन्तर्गत ग्राम बैलजुड़ी निवासी बताई गयी है।

यूपी के जिला आगरा अंतर्गत जगदीशपुरा थाना क्षेत्र स्थित आवास विकास काॅलोनी सेक्टर चार निवासी 45 वर्षीय साॅफ्टवेयर इंजीनियर निर्मल सोलंकी का वर्ष 2012 में पत्नी दीप्ति से तलाक हो गया। एटा के एक काॅलेज की प्रधानाचार्या दीप्ति का पीहर शाहगंज में है। वह बड़ी बेटी को लेकर अलग रहती हैं। शादी से पहले निर्मल अमेरिका में नौकरी करते थे। मगर, दिव्यांग बेटे भरत के जन्म के बाद वापस लौट आए। निर्मल की मां की मौत के बाद कई साल से पड़ोस में रहने वाली उनकी बहन विशेषा देवी बेटे की परवरिश कर रही थीं।

सत्रह वर्षीय दिव्यांग बेटे की देखभाल के लिए उन्होंने दूसरी शादी का मन बनाया। मथुरा निवासी जीजा राकेश सिंह के परिचित बिचैलिया देवेंद्र ने रुद्रपुर के किसी शर्मा नामक बिचैलिए से संपर्क किया, तो उसने रुद्रपुर और नैनीताल की आधा दर्जन से अधिक युवतियों के प्रोफाइल उनको भेजे। बीती 20 मई को निर्मल अपने जीजा राकेश और बिचैलिया देवेंद्र के साथ रुद्रपुर गए। वहां 30 वर्षीय तारा से मंदिर में शादी कर ली। शादी के लिए तारा की मां और बिचैलिया शर्मा को एक लाख रुपये दिए गए।

22 मई को तारा के साथ वे घर लौटे। इसी दिन बेटे भरत का जन्मदिन मनाया। अगले दिन सुहागरात थी। सुहागरात से पूर्व शाम सात बजे तारा ने निर्मल को दूध पीने को दिया। इसे पीने के बाद निर्मल को पेट दर्द की शिकायत हुई।  बावजूद इसके तारा ने निर्मल के बेटे भरत को भी जबरन दूध पिला दिया। कुछ देर बाद ही वह बेहोश हो गया। सुबह उठा तो पापा निर्मल बेड पर पड़े थे और उनके मुंह से खून निकल रहा था। तारा गायब थी। अलमारी खुली थीं। आरोप है कि दुल्हन घर से लाखों रुपये और आभूषण समेट ले गई। मामले में मुकदमा दर्ज करने के बाद पुलिस आरोपी दुल्हन की तलाश में जुटी थी।

बीते रोज पुख्ता सूचना पर यहां पहंुची आगरा पुलिस ने आरोपी दुल्हन को गिरफ्तार कर लिया। आगरा पुलिस के मुताबिक आरोपी दुल्हन यहां कुण्डा थाना अन्तर्गत बैलजुड़ी गांव की रहने वाली है। पुलिस को अंदेशा है कि तारा के गिरोह में कुछ और लोग भी शामिल हैं। पुलिस सरगर्मी से उनकी तलाश में जुटी है।


कई अन्य नामों से पहचानी जाती है तारा
एक लाख में सात फेरे लेकर आगरा गई दुल्हन तारा समुदाय विशेष से है। बताया जाता है कि तारा के अलावा वह और नामों से भी पहचानी जाती है। उसने सुहाग की सेज पर पति के कत्ल की साजिश रची थी। सिंदूर की डिब्बी में छुपाकर ले जाये गये जहर को पति के दूध में घोल दिया। दर्द में तड़पते पति को देख वह मुस्कराती रही। उसके शांत होने के बाद इत्मीनान से बेटे के मोबाइल से बर्थ डे पार्टी के फोटो डिलीट किए और सारा सामान समेट कर चंपत हो गई।

यूपी के आगरा जिले की आवास विकास काॅलोनी में 22 मई को दुल्हन बनकर गई तारा ने साॅफ्टवेयर इंजीनियर पति निर्मल को जहरीला दूध पिलाकर हत्या कर दी। अगली सुबह परिजनों को निर्मल के कमरे में सिंदूर की डिब्बी पड़ी मिली। डिब्बी के पास ही एक पाॅलीथिन मिली, इसमें सफेद रंग का पाउडर था। उसमें सिंदूर लगा होने से आशंका उठी कि वह डिब्बी में रखी गयी थी। दुल्हन तारा और बिचैलिया शर्मा की फोटो निर्मल के मोबाइल में थी। दुल्हन ने सबूत मिटाने को पति का मोबाइल मां से बात करने के बहाने से शाम को ही कब्जे में कर लिया था। रात को सुहाग की सेज पर दूध में जहर मिलाकर निर्मल को पिला दिया। कुछ ही देर बाद निर्मल की मौत हो गयी। इसी बीच उसने इंजीनियर के बेटे भरत को भी नशीला दूध पिला दिया। इसके बाद उसने 22 मई को मनाए गए बर्थ डे के फोटो भरत के मोबाइल से डिलीट कर दिए।

छह भाई-बहनों में सबसे छोटे थे
निर्मल छह भाई-बहनों में सबसे छोटे थे। गुड़गांव में रहने वाले बड़े भाई रनवीर सिंह वायुसेना से सेवानिवृत्त हैं। मंझले दर्शन सिंह नोएडा में इंडियन ओवरसीज बैंक में मैनेजर हैं।

जल्दबाजी में छोड़ गई मोबाइल के सुबूत
पति को जहर पिलाने के बाद तारा ने निर्मल का मोबाइल बेटे भरत के पास रख दिया। इसके बाद उसका मोबाइल उठाकर फोटो डिलीट किया। तारा का प्लान था कि वह निर्मल का मोबाइल ले जाएगी। मगर एक जैसे होने के कारण वह भरत का मोबाइल ले गई। निर्मल के मोबाइल में तारा और बिचैलिए की तस्वीरें हैं।

दुल्हन ने नहीं बताया घर का पता
ता

No comments:

Post a Comment

Tags

Recent Post