Latest News

Saturday, 18 June 2016

प्रापर्टी डीलर की हत्या कर, शव को बोरे में भरकर फेंका


 गोरखपुर। चिलुआताल इलाके के जंगल नन्दलाल सिंह हमीनपुर निवासी सुरेश पुत्र लालजी की शुक्रवार की रात में धारदार हथियार से उसी के घर में हत्या कर दी गई। हत्या के बाद बोरे में लाश को भरकर बड़े भाई श्रीप्रकाश की साइकिल पर लादकर रामपुर बंधे के पास साइकिल समेत फेंककर बदमाश फरार हो गए।
अवैध खनन करने वाले कुछ लोग रात में 3 बजे के आसपास मानीराम-रामपुर बांध से होते हुए रोहिन नदी के किनारे जा रहे थे। हमीनपुर गांव के समीप बांध पर पहुंचते ही उन्हें ट्रैक्टर की लाईट में कोई आदमी पैदल ही साइकिल से आता दिखा। लाईट पड़ने पर वह साइकिल छोड़कर नदी की ओर बांध से कूदकर फरार हो गया।

ट्रैक्टर सवार लोग वहां रुके और देखा कि बोर से खून टपक रहा है। बोर में किसी के लाश होने का अंदेशा उन्हें हुआ। वे सभी जिधर से खून टपकते आया था उसी के पीछे चल दिए। खून की बूंद हमीनपुर निवासी लालजी के घर तक थी। जब वे दरवाजे पर पहुंचे तो दो आदमी उस घर से बाहर झांक रहे थे लेकिन बाद में शांत हो गए और छिप गए।

मजदूरों को शक हुआ और उन्होंने शोर मचाना शुरू किया। किसी ने घटना की जानकारी पुलिस को दी। कुछ ही पल में चिलुवाताल पुलिस और फोरेंसिक टीम मौके पर पहुंची। साइकिल पर बंधा बोरा खोलकर नीचे उतारा गया तो उसमें युवक का शव था। शव की पहचान हमीनपुर निवासी लालजी के सबसे छोटे बेटे सुरेश के रूप में की गयी।

बता दें कि एक माह पहले मृतक सुरेश की पत्नी किरन अपने सात साल के बेटे आर्यन के साथ अपने मायके लोहारिया, सोनबरसा चली गयी है। बड़े भाई श्रीप्रकाश ने पुलिस को बताया कि रात में करीब 2 बजे के आसपास अचानक उसकी आंख खुली तो सामने देखा तो सुरेश के कमरे का फाटक खुला था और उनका कमरा किसी ने बाहर से बंद कर दिया था। शोर मचाने पर किसी ने दरवाजा खोला। वे मृतक के कमरे के अंदर देखे बगैर दरवाजे को बंद कर दिया और आकर सो गए।

बतादें कि परिवार में पांच भाई हैं। बड़ा भाई श्रीप्रकाश जिसका एक लड़का रजत व बेटी नेहा है। दूसरा भाई जयप्रकाश जिसकी लकड़ी रूबी और रबिश समेत घर में घटना के समय चौदह लोग मौजूद थे। तीसरा भाई सत्यप्रकाश जो गोरखपुर में रहता है। चौथा भाई रमेश सउदिया में रहता है और पांचवे नंबर पर मृतक सुरेश था।

पुलिस को सूत्रों से मिली जानकारी के मुताबिक मृतक सुरेश का अपने ही परिवार की एक महिला से नाजायज सम्बन्ध थे। इस सम्बन्ध को लेकर आये दिन उसका अपनी पत्नी से विवाद होता रहता था। अभी एक माह पूर्व सुरेश ने अपनी पत्नी को परिवार के ही एक युवक के साथ आपत्तिजनक स्थिति में देख लिया था और उससे मारपीट की थी। जिसके बाद से वह मायके में रह रही थी। वह युवक भी घर से बाहर है। सूत्रों के मुताबिक वह शुक्रवार की रात घर पहुंचा था।

फिलहाल पुलिस ने बड़े भाई श्रीप्रकाश की तहरीर पर अज्ञात बदमाशों के विरूद्ध धारा 302 एवं 201 आईपीसी के तहत मुकदमा दर्ज कर मामले की जांच कर रही है। पुलिस को शक है कि ह्त्या को घर के ही किसी खास व्यक्ति ने अंजाम दिया है।

No comments:

Post a Comment

Tags

Recent Post