Latest News

Saturday, 9 July 2016

फर्ज़ी जाति प्रमाण पत्र से बना जिला पंचायत सदस्य,अब हो रही फज़ीहत


मुरादाबाद। सत्ता का संरक्षण प्राप्त हो तो यूपी में कुछ भी असंभव नहीं है। इसी का जीता-जागता उदाहरण हैं मुरादाबाद का एक शख्स जिसने मुस्लिम होते हुए अपना नाम बदलकर न केवल अनुसूचित जाति का फर्जी प्रमाण पत्र बनवा लिया, बल्कि बीते जिला पंचायत चुनाव में आरक्षित वार्ड दो से चुनाव भी जीत लिया। इस बात का खुलासा चुनाव आयोग से शिकायत के बाद हुआ है। जिसमें आयोग ने जिला प्रशासन से इस शख्स का पूरा विवरण तलब किया है। इसके बाद जिलाधिकारी ने सीडीओ को जांच सौंपी गई थी। जांच में सामने आया कि तहसीलदार के फर्जी साइन का जाति प्रमाण पत्र लगाया गया था।

दरअसल पूरा मामला बेहद पेचीदा है कुछ वर्ष पहले ठाकुरद्वारा के वार्ड दो निवासी बलवंत ने मुस्लिम धर्म गृहण कर लिया था और बीते जिला पंचायत चुनाव में उसने शमसाद उर्फ बलवंत नाम से परचा दाखिल किया था और चुनाव भी जीत गया था। किसी ने चुनाव आयोग में शिकायत की कि मुस्लिम होने के बावजूद उसने आरक्षण का अनुचित लाभ लिया है। जिस पर स्थानीय प्रशासन से जांच कर कार्यवाही की बात कही।

जिलाधिकारी जुहैर बिन सगीर ने मामले की जांच तत्कालीन सीडीओ को सौंपी। जांच में पाया गया कि जो जाति प्रमाण पत्र लगाया गया है वो पूरी तरह से फर्जी है उसमें तहसीलदार के हस्ताक्षर व मोहर फर्जी पाई गई। यानी शमसाद अनुसूचित जाति में नहीं आता, चूंकि धर्म परिवर्तन के बाद आरक्षण का लाभ मिलेगा या नहीं इसके लिए एडीएम प्रशासन की निगरानी में एक टीम गठित की गई है, जो एक सप्ताह में रिपोर्ट देगी।

चूंकि जिला पंचायत सदस्य की सीट आरक्षित थी तो उस पर मुस्लिम का चयन हो जाना स्थानीय प्रशासन की बड़ी चूक के साथ-साथ चुनाव आयोग की विश्वसनीयता पर भी सवाल है, लेकिन हैरानी इस बात की है कि किसी भी अफसर की निगाह इस पर नहीं पड़ी, यदि शिकायत न होती तो क्या ये व्यक्ति जो शमशाद था और दलित बलवंत बनकर समाज और कानून को ठेंगा दिखाता रहता। वहीं ये भी बताया जा रहा है कि चुनाव आयोग के लगातार निर्देश के बावजूद भी इस शख्स पर कानूनी कार्यवाही नहीं की जा रही और इसे सपा का समर्थन प्राप्त बताया जा रहा है।

फिलहाल हैरानी वाली बात ये है कि यदि कानूनन वो अयोग्य साबित होता है तो इस लापरवाही की जिम्मेदारी किसकी होगी। क्योंकि ये सीधा मामला कानून को नजरअंदाज कर अपना मतलब सीधा करने का है। जिसमें खादी भी साथ खड़ी दिखती है।

No comments:

Post a Comment

Tags

Recent Post