Latest News

Wednesday, 31 August 2016

रामपुर-आदिवासियों के जैसी जिन्दगी जीने को मजबूर लोग,आज़म खान के दावों की खोली कांग्रेसी नेता ने पोल


रामपुर : आदिवासियों जैसी जिंदगी जी रहे लोग, कांग्रेस नेता ने खोली आज़म खान के विकास की पोल लोग आजादी के दशकों बीत जाने के बाद भी आदिवासियों जैसी जिंदगी जीने को मजबूर।
ऐसा लगता है कांग्रेस नेता फैसल लाला सपा के कद्दावर नेता व मंत्री आज़म खां की नींद उड़ाने में कोई कसर नहीं छोड़ने वाले। लगातार वह अलग-अलग मुद्दों पर आज़म खां का कड़ा विरोध कर रहे हैं। अब उन्होंने रामपुर शहर विधानसभा के एक गांव का दौरा कर यहां लोगों के दर्द को उजागर किया है।

फैसल लाला ने प्रेस नोट जारी कर कहा कि शहर विधानसभा के गांव भैया नगला में लोग आजादी के दशकों बीत जाने के बाद भी आदिवासियों जैसी जिंदगी जीने को मजबूर हैं। यह गांव कोसी नदी के पार है, जिसके कारण लोगों को मुख्यालय या जिला अस्पताल पहुंचाने के लिए पहले तो अपने गांव से कोसी नदी के घाट तक पहुंचने में रोड न होने के कारण तीन किमी का सफर पैदल तय करना पड़ता है।

इसके बाद कोसी नदी पार करने के लिए नांव का सहारा लेना पड़ता है। नदी पार करने के बाद फिर से रोड न होने की वजह से दो किमी का सफर तय करके बस तक पहुंचना होता है। तब जाकर लोग मुख्यालय या जिला अस्पताल पहुंच पाते हैं। इसी तरह छोटे-छोटे बच्चे अपने स्कूल जाने के लिए हर रोज़ खतरों से भरा सफर तय करके स्कूल पहुंचते हैं।

फैसल लाला ने कहा कि जो आज़म खां रामपुर में विकास का ढिंढोरा पीटते हैं, उनकी विधानसभा क्षेत्र के गांव भैया नगला में पुल की बेहद जरूरत है, वहां लोग पुल न होने के कारण बेबसी की जिंदगी जीने को मजबूर हैं।

उन्होंने आगे कहा कि जहां पुल की जरूरत नहीं थी, वहां सरकारी पैसे का दुरूपयोग कर कानून की धज्जियां उड़ाते हुए तहसील भवन के ऊपर से सिर्फ अपने चलने के लिए मंत्री आज़म खां ने करोड़ों रूपयों की लागत से पुल बनवा दिया।

No comments:

Post a Comment

Tags

Recent Post