Latest News

Wednesday, 31 August 2016

वन विभाग सो रहा गहरी नींद,ग्रामीणों ने घेर लिया तेंदुआ


 मुरादाबाद/ठाकुरद्वारा। असलेमपुर के जंगल में तेंदुआ राहगीर पर झपटा तो उसके शोर मचाने पर ग्रामीणों ने ईख में घेर लिया। घंटों गामीणों और तेंदुआ के बीच पेशबंदी चलती रही। बाद में मौका पाकर फरार हो गया।
कोतवाली के ग्राम गोपीवाला निवासी किसन सिंह साईकिल से लौंगी खुर्द दुकान पर जा रहे थे। असलेमपुर के जंगल में धनेरिया के पास पेड़ के नीचे बैठे तेंदुआ ने किसन सिंह पर अचानक झपट्टा मार दिया। किसन सिंह ने भागकर जान बचाई। उन्होंने असलेमपुर में जाकर ग्रामीणों को रास्ते में तेंदुआ बैठा होने की सुचना दी। इसके बाद असलेमपुर, गोपीवाला समेत कई गांवों के ग्रामीण लाठी-डंडे और लाइसेंसी असलहे लेकर मोके पर पहुंचे तो तेंदुआ ईख में घुस गया।  ग्रामीणों ने चारों तरफ से ईख को घेर लिया। करीब घंटाभर तेंदुआ और ग्रामीणों के बीच पेशबंदी चलती रही। इस बीच तेंदुआ ईख से निकलकर जंगल में भाग गया। ग्रामीणों के सूचना देने पर भी वन विभाग का कोई कर्मचारी मोके पर नहीं पहुंचा। इससे खफा ग्रामीणों ने वन विभाग के खिलाफ नारेबाजी कर प्रदर्शन किया। इसमें यशपाल सिंह, विकास कुमार, योगराज सिंह, जाकिर अहमद, चीकी सिंह, मौलाना चंदा, रोहित कुमार आदि थे।
नजदीक से देखी मौत
ठाकुरद्वारा। गोपीवाला निवासी किसन सिंह रोजाना साईकिल से लौंगी खुर्द दुकान पर जाते हैं। उन्होंने आज रास्ते में मौत को नजदीक से देखा तो पसीने छूट पड़े। कहते हैं, एकदम पास पहुंचने पर तेंदुआ पर नजर पड़ी तो साईकिल को पीछे की तरफ घसीटता चला गया। यह तो अच्छा हुआ तेंदुआ ने पीछा नहीं किया वरना बचाने वाला कोई नहीं मिलता। उन्होंने ईश्वर का हाथ जोड़कर धन्यवाद किया।
शरीफ नगर में बछड़े को बनाया निवाला
ठाकुरद्वारा। शरीफ नगर मैरिजहाल में घुसने के बाद तेंदुआ ने रविवार की रात बछड़े को निवाला बना लिया। उसके अवशेष ईख में पड़े मिले। ग्रामीण ने मन्नत पूरी होने पर बछड़े को भगवान के नाम पर खुला छोड़ दिया था। रविवार को बछड़ा अचानक गायब हो गया। ग्रामीणों ने तलाश की तो ईदगाह के पास गन्ने के खेत में अवशेष मिले। उसका आधे से ज्यादा शरीर खाया हुआ था। ग्रामीणों का कहना है कि आबादी से तेंदुआ बछड़े को पकड़कर ले गया होगा।

No comments:

Post a Comment

Tags

Recent Post