Latest News

Wednesday, 24 August 2016

लिफ्ट देकर लूटपाट करने वाला गिरोह चढ़ा पुलिस के हत्थे,मामले को दबाने का प्रयास जारी



                                     (बरामद गाड़ी के साथ पीड़ित सनाउल्लाह)

मुरादाबाद/ठाकुरद्वारा -ग्रामीण से लूट के मामले मे भारी मशक्कत के बाद ग्रामीण की मदद से कोतवाली पुलिस ने पिकप कार समेत चार लोगो को हिरासत मे लिया,गैंग करता था पिकप कार मे लिफ्ट देकर लूटपाट कोतवाली पर लगा आरोपियों को छुड़ाने के लिये दलालों का मेला।

जानकारी के अनुसार ठाकुरद्वारा तहसील क्षेत्र के ग्राम अब्दुल्लापुर लेदा निवासी सनाउल्लाह तीन दिन पूर्व गाड़ी के टेक्स की क़िस्त जमा करने के लिये मुरादाबाद जाने के लिये ठाकुरद्वारा तिकोनिया बस स्टैण्ड पर गाड़ी का इंतज़ार कर रहा था जहाँ पिकप गाड़ी संख्या  यूपी बी एन 3086 लेकर दो लोग पहुँचे और मुरादाबाद जाने के लिये लिफ्ट मांगने पर सनाउल्लाह को बेठा लिया तथा कुछ दूरी पर गाड़ी मे दो साथी और सवार हो गए और रास्ते मे नशीला पदार्थ खिलाकर उसकी जेब मे रखे चालीस हज़ार रूपये लूटकर फरार हो गए,किसी तरह पीड़ित होश मे आने पर घर पहुँचा और कोतवाली पहुँच कर पुलिस को आपबीती सुनाई,जिसके बाद कोतवाली पुलिस ने पीड़ित के ऊपर ही गाड़ी को पकड़वाने का जिम्मा सोप दिया बताते चलें की गाड़ी पकड़वाने के चक्कर मे पीड़ित तीन दिन से दिन रात तिकोनिया बस भटकता रहा यहाँ तक की तीन रातेँ पीड़ित ने बस स्टैण्ड पर बने पार्क मे गुज़री जिसके बाद आख़िर बुद्धवार को पीड़ित ने पिकप गाड़ी को तिकोनिया बस स्टैण्ड पर होटल के सामने खड़ा देखा और पुलिस को सुचना दी,मौक़े पर पहुँची पुलिस ने गाड़ी समेत चार आरोपियों को दबोच लिया जिनकी पहचान पीड़ित ने करके पुलिस को बताया की उन्ही लोगो ने उसके साथ लूटपाट की थी। चारों आरोपी भोजपुर थाना क्षेत्र स्थित पिपलसाना निवासी नोशाद,राशिद व दो अन्य के रूप मे पहचान की गई।
                          लूट के आरोपी पुलिस हिरासत मे)

वहीँ आरोपियों की गिरफ्तारी के बाद भी लूट का एक आरोपी कोतवाली परिसर मे खुलेआम घूमता नज़र आया बताते चलें कि दोपहर मे आरोपियों की गिरफ्तारी के बाद भी कोतवाली पुलिस ने देर रात तक आरोपियों के खिलाफ़ कोई भी मुक़दमा दर्ज नही किया बल्कि पत्रकारों द्वारा जानकारी करने पर मारपीट का मामला बताकर गुमराह करने का प्रयास किया गया।वहीँ कोतवाली मे तैनात दो दरोगा आरोपियों को छोड़ने के एवज मे दलालों से साठ गांठ करते नज़र आये लेकिन बाद मे मामला पूरी तरह से मीडिया के संज्ञान मे आने पर लूट के एक आरोपी को एक ग्राम प्रधान की सुपुर्दगी मे सोप दिया और देर रात तक बाक़ी आरोपियों को छुड़ाने के लिये दलालों का जमाबड़ा कोतवाली पर लगा रहा।

No comments:

Post a Comment

Tags

Recent Post