Latest News

Tuesday, 20 September 2016

हड़ताल की मार-इलाज के अभाव में 21 दिन के बच्चे की मौत



मुरादाबाद।  राज्य कर्मचारियों के साथ ही फार्मेसिस्ट व् कर्मचारी भी हड़ताल पर हैं। जिसका खामियाजा आज एक मासूम को अपनी जान देकर चुकाना पड़ा।
पाकबड़ा निवासी यशपाल का 21 दिन का बच्चा लेकर आये थे,यशपाल के मुताबिक पहले गाँव में दिखाया था,लेकिन वहां कोई फायदा नहीं हुआ। तब वो जिला अस्पताल लेकर आये।

इमरजेंसी में मौजूद डॉक्टर अशोक कुमार ने स्टाफ न होने पर इलाज से मना कर दिया। इलाज के आभाव में यशपाल के 21 दिन के बच्चे की मौत हो गई।

परिजनों का रो रोकर बुरा हाल हो गया, माँ तो बेहोश सी हो गई। वो अपने मृत बच्चे को सीने से लिपटकर रोने चीखने लगी, जिससे वहां मौजूद सभी की आँखे नम हो गईं। हैरानी तब हुई कि जब अस्पताल में तमाम डॉक्टर हाथ पर हाथ खड़े सिर्फ मातम देख रहे थे। किसी ने भी माँ बाप को सांत्वना देना भी उचित नहीं समझा।  उस मासूम की मौत का जबाब किसी के पास नहीं है कि आखिर उसका कुसूर क्या था?

No comments:

Post a Comment

Tags

Recent Post