Latest News

Friday, 2 September 2016

90 करोड़ की बरसात के चक्कर मे नेपाली लड़की को तांत्रिक के हवाले किया


बरेली. 90 करोड़ रुपए की चाहत में एक नेपाली लड़की को तांत्रिक के हवाले करने का मामला सामने आया है। बताया जाता है कि एक युवक बहला-फुसलाकर लड़की को नेपाल से यहां लाया था। इसके बाद तांत्रिक को सौंप दिया। रात भर पूजा-पाठ के बाद जब रुपए की बरसात नहीं हुई तो गिरोह की तांत्रिक से मारपीट हो गई। जानकारी के बाद पुलिस मौके पर पहुंची, तब तक तांत्रिक फरार हो चुका था। आरोप है कि इस दौरान लड़की से शारीरिक संबंध भी बनाए गए। आगे पढ़िए पूरा मामला.

स्‍थानीय लोगों के अनुसार, नेपाल के धनगढ़ी विशालनगर की युवती को पड़ोसी युवक 5 दिन पहले बहला-फुसलाकर उत्तराखंड लेकर आया था।
-वहां वह नवाबगंज के रिछैला किफायतुल्ला के एक टीचर से मिला।
-इसके बाद दोनों नेपाली लड़की को लेकर धनोर गांव पहुंचे और टीचर के उसे अपने भांजे को दे दिया।
-वह युवक अपने दोस्त के साथ युवती को लेकर  गुलशननगर ले गया, जहां महिला कोटेदार के घर में उसे 3 दिन तक रखा।
-बताया जाता है कि इस दौरान दोनों ने युवती से शारीरिक संबंध भी बनाया।
-बुधवार की रात वहां एक तांत्रिक पहुंचा।
-उसने दोनों युवकों से कहा था कि नेपाल की लड़की के साथ पूजा करने पर 90 करोड़ रुपए की बरसात होगी।
-देर रात तक पूजा चलती रही, लेकिन रुपए नहीं बरसे।
-इस पर दोनों युवक भड़क गए और तांत्रिक से मारपीट होने लगी।
-हंगामा होते ही मकान मालिक समेत पड़ोसी जुटे और युवती को देखकर पुलिस को सूचना दे दी।
-इसकी जानकारी होते ही नवाबगंज पुलिस मौके पर पहुंची, लेकिन तब तक तांत्रिक वहां से फरार हो चुका था।
-पुलिस ने दोनों युवकों को पकड़ लिया और युवती के साथ थाने ले गई।
-सूचना मिलने पर लड़की के माता-पिता अपने रिश्तेदार के साथ गुरुवार को थाने पहुंचे।
-वहां काफी देर रात तक पूछताछ चलती रही। बाद में पुलिस ने लड़की को परिजनों को सौंप दिया।


क्‍या कहते हैं पुलिस अफसर
-नवाबगंज इंस्पेक्टर राजेश कुमार शर्मा ने बताया कि लड़की और उसकी मां ने लिखकर दिया है कि वह यहां पूजा करने आई थी।
-एक रिश्तेदार के यहां पूजा के दौरान पड़ोसियों ने पुलिस को गलत सूचना दे दी।
-लड़की के साथ गलत काम या अपहरण की कोई बात सामने नहीं आई है।
-वहीं, सीओ नवाबगंज इंदुप्रभा ने कहा कि इंस्‍पेक्‍टर ने बताया है कि लड़की के साथ कुछ गलत नहीं हुआ है।
-लड़की और उसकी मां ने लिखित रूप में दिया है।

पुलिस की कहनी पर उठ रहे कई सवाल
-स्‍थानीय लोगों की मानें तो पुलिस की कहानी में काफी झोल है।
-पहली बात कि वह पड़ोसी कहां गया, जिसके साथ युवती नेपाल से चली थी?
-इतनी दूर वह घर से किसी सदस्य के साथ क्यों नहीं आई?
-वहीं, इतनी दूर पड़ोसी के साथ आने की बात गले नहीं उतर रही है?
-नवाबगंज के टीचर और उसके भांजे से युवकी का क्या संबंध है?
-इस बाबत अब तक तस्वीर साफ नहीं हो सकी हैं। आखिर वह लड़की का रिश्तेदार तो है नहीं।
जब पूजा चल रही थी, बुजुर्ग मकान मालिक और उनकी पत्नी ही घर में थे।
-बच्चे अपनी ननिहाल चले गए थे, आखिर ऐसा समय क्‍यों चुना गया था?
-उनके घर में किराएदार महिला के घर में लड़की कई दिन तक थी तो उन्‍होंने पूछताछ क्यों नहीं की?
-अगर सिर्फ पूजा करने का मामला था तो मौके से तांत्रिक भाग क्यों गया?
-उसका नाम, पता जानने की कोशिश पुलिस ने क्यों नहीं की?
-युवती पूजा करने निकली थी और 5 दिन से घर नहीं गई थी। ऐसे में घरवालों ने उसके बारे में पूछताछ क्यों नहीं की?
-पड़ोसी तो मिला नहीं, ऐसे में घरवाले अजनबी युवकों पर इतना भरोसा क्यों कर रहे थे?

No comments:

Post a Comment

Tags

Recent Post