Latest News

Saturday, 3 September 2016

रोज़ी की तलाश मे विदेश गऐ पति ने भेजा सन्देश ज़िंदा लौटना मुश्किल


मऊ : यूपी के मऊ जिले के दक्षिणटोला थाना क्षेत्र के औरंगाबाद की रहने वाली सायेदा खातून का पति अमजद शादी के एक माह बाद ही कमाने के लिए कतर चला गया। अब वो वहां से फोन करता है कि उस पर वहां बेइंतहा जुल्म हो रहा है। उससे ऊंट चराने का काम लिया जाता है। तनख्वाह मांगने पर बुरी तरह मारा-पीटा जाता है। उसे बंधक बना लिया गया है।

अमजद की पत्नी सायेदा ने विदेश मंत्रालय और सरकार से गुहार लगाई है कि उनके पति को वतन वापस लाने की व्यवस्था की जाए। सायेदा का पति 2014 में विदेश गया था। गरीबी से उबरने और बेहतर जिन्दगी जीने का सपना आंखों में लिए अमजद अली अपने एक दोस्त के बुलाने पर दोहा कतर गया।

अमजद अपने शहर में ड्राइविंग का काम करता था, वहां जाकर भी वह ड्राइविंग का काम करने लगा। विदेश से अमजद का मनीआर्डर भी आने लगा, पर अचानक सात माह पहले एक दिन अमजद का फोन आया कि वह दोहा कतर के जंगलों में फंस गया है और वह अब शायद वापस नहीं आ पाएगा।

उसने बताया कि मुझे मार भी दिया जा सकता है, इसलिए मुझे किसी तरह यहां से वापस बुलाने के लिए एम्बेसी में प्रार्थना पत्र दो। हो सकता है कि मुझे अपने वतन बुला लिया जाए। उसने बताया कि जहां उसे रखा गया है, वहां नेटवर्क नहीं रहता। ये लोग मुझे टार्चर भी करते हैं। मुझे समय से खाना भी नहीं देते। मुझसे लगातार काम लिया जा रहा है, जिससे मेरी स्थित खराब है।

तब से पिछले सात महीने से लगातार अमजद का परिवार विदेश मंत्रालय के चक्कर काट रहा है लेकिन उनकी सुनवाई नहीं हो रही है। पिछले सात माह से अमजद से फोन पर बात भी नही हुई है। सायेदा ने बताया कि मेरे शौहर शादी के एक महीने बाद ही कतर चले गए और अब वहां फंस गए हैं। सायेदा ने सरकार से मदद की गुहार लगाई है।

No comments:

Post a Comment

Tags

Recent Post