Latest News

Thursday, 1 September 2016

बड़ा सवाल-अरबों रुपया खर्च के बाद भी गंगा कब हो पाऐगी निर्मल


कानपुर। मोक्षदायिनी गंगा को निर्मल.अविरल करने की सरकार की योजनाएं केवल कागज में ही दिख रही हैं। सीवरेज ट्रीटमेंट प्लांट बना हुआ है लेकिन सीवर का पानी भेजने के लिए लाइन ही नहीं पड़ सकी है। ऐसे में गंगा कैसे साफ होगी। कानपुर शहर में गंगा सफाई का सफर 1989 में शुरू हुआ था। और अब तक इस पर आठ अरब रुपये खर्च भी हो चुके हैं, लेकिन गंगा आज तक निर्मल.अविरल नहीं हो सकी है।
पिछले एक साल से एक बार फिर नमामि गंगे योजना के तहत गंगा को शुद्ध करने की तैयारी शुरू हुई है। हालांकि अभी केवल घाटों को पिकनिक स्पॉट बनाने की तैयारी चल रही है। गंगा में गिर रहे 21 नालों को रोकने के लिए कोई कवायद नहीं शुरू हुई है। ऐसा नहीं है कि जल निगम ने इन नालों को टैप करने व नए और सीवरेज ट्रीटमेंट प्लांट बनाने का खाका केंद्र को नहीं भेजा है।

एक साल हो गया हैए लेकिन अभी तक धरातल पर कुछ भी नहीं है और सीवरों का पानी आज भी गंगा में गिर रहा है। ऐसे में गंगा कब निर्मल होगी पता नही लेकिन इनता तो साफ है कि निर्मल बनाने के नाम पर सरकार के अरबो रूपये जरूर खर्च हो गये।

No comments:

Post a Comment

Tags

Recent Post