Latest News

Wednesday, 7 September 2016

शराब के नशे मे हैवान बने बेटे ने विधवा माँ को बनाया हवस का शिकार,लोगो ने धुनाई कर पुलिस को सोपा



कानपुर। शराब आदमी को किस कदर जानवर बना देती है, मंगलवार रात यह उस वक्त साबित हो गया जब शराब के नशे में धुत्त एक युवक ने अपनी विधवा मां को ही हवस का शिकार बना डाला।

मीडिया रिपोर्ट्स के अनुसार कोहना थाने की पुलिस ने आरोपी को गिरफ्तार कर उसके खिलाफ दुष्कर्म की एफआईआर दर्ज कर ली है।कल्पना से परे इस घटना का सबसे दुखद पहलू यह है कि महिला की चीख-पुकार सुनकर उसे बचाने के बजाय मौके पर जमा लोगों ने दरवाजे की कुंडी बाहर से बंद कर ली। हकीकत से अनजान लोगों ने सोचा कि युवक, मां से मारपीट कर रहा होगा, पुलिस बुलाकर उसे पकड़वा दिया जाएगा।

दरवाजा खुला तो संभवत: शहर की अपने ढंग की पहली दिल दहला देने वाली शर्मनाक घटना सामने आई। सब हतप्रभ रह गए कि अनजाने ही उनसे कितनी बड़ी गलती हो गई और एक हैवान अपने मंसूबों में कामयाब हो गया। कुकर्मी बेटे को देखकर लोग गुस्से में पागल से हो गए और जमकर पीटने के बाद उसे पुलिस के हवाले कर दिया। इस बेहद घिनौनी घटना की शिकार बनी 62 वर्षीय महिला कोहना थाना क्षेत्र की रहने वाली है।

पति को दिवंगत हुए कई साल हो चुके हैं। आरोपी युवक (40) पीड़िता का सबसे बड़ा बेटा है। इंतिहा की हद तक शराब के लती होने के चलते इसकी पत्नी पत्नी अपने दो बच्चों को लेकर पांच साल पहले मिर्जापुर मायके चली गई थी। तब से वहीं रहती है। घटना की जानकारी देते हुए थानाध्यक्ष पूनम अवस्थी ने बताया कि आरोपी शाम को शराब की बोतल लेकर घर पहुंचा। उसने पहले शराब पी। फिर मां से आमलेट बनवाकर खाया। थोड़ी देर बाद उसने मां को ही दबोच लिया।

मां उसकी नीयत भांपकर आबरू बचाने के लिए मिन्नत करती रही। फिर विरोध में हमलावर हुई तो आरोपी ने उसको लात-घूंसे से पीटा और बेहाल कर उसकी इज्जत तार-तार कर दी। थानाध्यक्ष ने बताया कि कंट्रोल रूम से जानकारी मिलने पर पुलिस मौके पर पहुंची और आरोपी को गिरफ्तार कर लिया। महिला की तहरीर पर आरोपी के खिलाफ एफआईआर दर्ज की गई है। महिला का एक बेटा और बेटी भी मां के साथ थाने पहुंचे। थानाध्यक्ष के मुताबिक बुधवार को आरोपी को कोर्ट में पेश किया जाएगा।

No comments:

Post a Comment

Tags

Recent Post