Latest News

Saturday, 15 October 2016

एस0एम0 काॅलेज में हुई छात्र गुटों के बीच फायरिंग




सम्भल(अज़ीम अब्बासी)चन्दौसी- एस0 एम0 डिग्री काॅलेज में दिनदहाड़े छात्रों ने फायरिंग करके भय का माहौल बना दिया। लगातार चार फायर करते ही काॅलेज में अफरातफरी का माहौल पैदा हो गया। काॅलेज के एक प्रवक्ता प्रवीन कुमार ने फायरिंग कर रहे छात्रों के पीछे भागने की कोशिश की। लेकिन तमंचा तान देने पर वो पीछे हट गये। जबकि कोतवाली काॅलेज से चंद कदमों की दूरी पर है। ये घटना दो बजे की है जब एसएम काॅलेज मंे कक्षाएं चल रही थीं व छात्र-छात्राएं कुछ कक्षा में थे और कुछ काउंटर पर फीस जमा कर रहे थे। अचानक फिल्मी स्टाइल में तीन छात्र एसएम काॅलेज के पिछले गेट से काॅलेज परिसर में आये और एक छात्र बाइक को स्टार्ट किये रहा। छात्रों ने प्राचार्य के कार्यालय के सामने दो तमंचों से लगातार चार फायर किये और फिल्मी स्टाइल में पिछले गेट से तमंचे लहराते हुए सुभाष रोड़ की तरफ भाग गये। काॅलेज के प्रवक्ता प्रवीन कुमार ने बताया कि तीन छात्र आये और उन्होंने 315 बोर के तमंचे से फायरिंग शुरू कर दी। अचानक हुई फायरिंग से छात्र-छात्राएं इधर-उधर दौड़ने लगे। एसएम काॅलेज में बीएड, एमए, बीएससी व कला की कक्षाएं चल रही थीं और कुछ छात्र छात्राएं कालेज कार्यालय के पास बैठे हुए थे। फायरिंग करने वालों ने एक हवाई फायर ऊपर किया और एक फायर दीवार की ओर किया। दूसरे लड़के ने तमंचा निकालकर दो फायर दागे। तमंचे से निकले खोखे भी अपनी जेब में रख लिए। लेकिन किसी तरह एक खोखा काॅलेज परिसर में रह गया। हालांकि प्राचार्य बालेन्दु वशिष्ठ कुछ प्रवक्ताओं के साथ बाहर आये लेकिन तब तक फायरिंग करने वाले छात्र भाग चुके थे। हालांकि शुरू में काॅलेज के प्राचार्य ने घटना से इनकार किया कि शायद दीवाली के पटाखे छूट रहे होंगे। लेकिन जब मीडिया वालों ने मैदान में पड़े 315 के खोखे को दिखाया तो वह चुप हो गये। जबकि छात्र-छात्राएं बराबर कह रहे थे कि तीन छात्र आये और फिल्मी स्टाइल में फायरिंग करके भाग गये। किन्तु प्राचार्य दिन दहाड़े हुई फायरिंग की घटना को दबाने में लगे रहे।

⚈ फायरिंग की सूचना पर मौके पर पहुंचे सीओ एवं इंस्पेक्टर
चन्दौसी- एसएम काॅलेज में चार फायर हो गये परंतु काॅलेज प्रशासन ने पुलिस को बताने की जहमत नहीं उठायी। फायरिंग की सूचना भी मीडिया कर्मियों द्वारा सीओ व इंस्पेक्टर को दी गयी। प्राचार्य केवल यह कहकर मामला दबाने में लगे हुए थे कि शायद दीवाली का त्योहार होने पर कुछ लड़कों ने पटाखे छोड़े हों। लेकिन घटनास्थल पर हकीकत कुछ और ही थी। घटना स्थल पर सीओ सुरेश बाबू यादव, इंस्पेक्टर इंदे्रश चाहर, एसआई राजेश बैसला काॅलेज परिसर में पहुंचे और घटना स्थल पर पड़ा 315 बोर के तमंचे का खाली खोखा कब्जे में लिया। कुछ छात्रों का कहना था कि एसएम काॅलेज में शांतिपूर्वक छात्र संघ चुनाव की प्रक्रिया चल रही है। लेकिन कुछ लोग शांतिपूर्ण चुनाव नहीं चाहते। इसीलिए दहशत का माहौल बनाया जा रहा है। चुनाव लड़ाने के लिए कुछ पुलिस कर्मी भी सादा वर्दी में आते हैं और काॅलेज के अंदर बाहरी लोगों को जमघट रहता है। छात्रों का कहना था कि काॅलेज परिसर में सीसी कैमरे काॅलेज प्रशासन लगवाये व पुलिस तैनात रहे। बगैर परिचय पत्र के काॅलेज में बाहरी छात्रों को प्रवेश न कराया जाये। चुनाव तक कम से कम आधा दर्जन पुलिस कर्मी काॅलेज गेट पर तैनात रहें। जिससे कोई अप्रिय घटना घटित न हो।

No comments:

Post a Comment

Tags

Recent Post