Latest News

Sunday, 16 October 2016

मोदी सरकार को मुसलमानो का मुहतोड़ जबाव कहा शरीयत मे दख़ल नही करेंगे बर्दाश्त


दिल्ली-अमर उजाला की रिपोर्ट के अनुसार केंद्र सरकार की ओर से तीन तलाक को औरतों के अधिकारों के खिलाफ बताने और समान नागरिक संहिता के खिलाफ शुक्रवार को शुरू हुए हस्ताक्षर अभियान में शामिल होकर मुसलमानों ने संदेश दिया कि इस्लामी शरीयत में किसी भी तरह का बदलाव उन्हें मंजूर नहीं है।
ऑल इंडिया मुस्लिम पर्सनल लॉ बोर्ड की अपील पर ऐशबाग ईदगाह स्थित दारुल उलूम फरंगी महल में जुमे की नमाज के बाद हस्ताक्षर अभियान चलाया गया।

इसमें सैकड़ों मुसलमानों ने फॉर्म पर हस्ताक्षर कर इस्लामिक सेंटर ऑफ इंडिया में जमा किया। अभियान में बड़ी तादाद में मुस्लिम महिलाएं भी शामिल हुईं।

इससे पहले जुमे की नमाज के दौरान ईदगाह के इमाम मौलाना खालिद रशीद फरंगी महली ने कहा कि केंद्र सरकार ने सुप्रीम कोर्ट में हलफनामा दाखिल कर तीन तलाक को महिलाओं के अधिकारों के खिलाफ बताया है, यह इस्लामी शरीयत में खुला हस्तक्षेप है। अब लॉ कमीशन ने भी इस मामले में लोगों से राय मांगी है।

No comments:

Post a Comment

Tags

Recent Post