Latest News

Saturday, 8 October 2016

काशीपुर-वाईक और नगदी की मांग पूरी न होने पर विवाहिता को घर से निकाला


                       प्रतिकात्मक तस्वीर
काशीपुर। समाज के लिए अभिशाप बने दहेज की गाज फिर एक विवाहिता पर गिरी है। ससुरालियों ने पांच लाख की नगदी व बाइक की मांग करते हुए उसे घर से निकाल दिया। विवाहिता की तहरीर पर पुलिस ने पति समेत आठ लोगों के खिलाफ मुकदमा दर्ज किया है।

गिरीताल क्षेत्र अंतर्गत कल्याण नगर निवासी केपी उपाध्याय ने अपनी पुत्री शालिनी का विवाह पांच दिसम्बर 2012 को मवाना (मेरठ) निवासी विनोद कुमार के साथ विधिवत किया था। आरोप है कि विवाह के बाद से ससुराली दहेज की मांग करते हुए आये दिन शालिनी का उत्पीड़न करने लगे।

शालिनी के गर्भवती होने पर ससुरालियों ने तब उसका जबरन गर्भपात करा दिया जब वह डेढ़ माह के गर्भ से थी। पुलिस को दी तहरीर में शालिनी ने उक्त बाते बताते हुए कहा कि 26 दिसम्बर 2015 को उसने एक बच्चे को जन्म दिया किन्तु ससुराल से उसे कोई भी देखने नहीं आया।

इस वर्ष फरवरी माह में उसकी छोटी बहन की शादी के अगले दिन ससुराली उसे अपने साथ ले गये किन्तु उत्पीड़न में किसी प्रकार की कमी न करते हुए 27 मार्च को पांच लाख रूपये नगद व बाइक की मांग करते हुए उसे प्रताड़ित कर घर से निकाल दिया।

मायके में रह रही शालिनी की तहरीर पर पुलिस ने उसके पति विनोद कुमार समेत ससुरालीगण धर्मवीर उपाध्याय, सावित्र देवी, मनोज, संगीता, विकास, राजीव, अजय के खिलाफ विभिन्न धाराओं में मुकदमा दर्ज कर मामले की पड़ताल शुरू कर दी है।

No comments:

Post a Comment

Tags

Recent Post