Latest News

Sunday, 16 October 2016

चंद सिक्कों की ख़ातिर मुल्क़ से गद्दारी करने वालों को बेनक़ाब करना ज़रूरी,उस्मान रहमानी



अमृतसर। आज यहां लुधियाना से आए पंजाब के नायब शाही इमाम व मजलिस अहरार इस्लाम हिन्द के महासचिव मौलाना मुहम्मद उसमान रहमानी लुधियानवी ने हाल बाजार स्थित मस्जिद सिकंदर खान में प्रैस कांफ्रेस के दौरान अमृतसर के युवा मुस्लिम नेता अब्दुल नूर को मजलिस अहरार इस्लाम पंजाब का प्रदेश अध्यक्ष नियुक्त करने का ऐलान किया।

इससे पहले अब्दुल नूर अहरार पार्टी के अमृतसर के अध्यक्ष के रूप में सेवाएं दे रहे थे। वर्णनयोग है कि भारत के स्वतंत्रता संग्राम में मुख्य भूमिका निभाने वाले अहरार पार्टी तत्कालीन पंजाब में मुसलमानों की एक मात्र मुख्य सियासी जमात है। इस अवसर पर संबोधित करते हुए नायब शाही इमाम मौलाना उसमान रहमानी लुधियानवी ने कहा कि भारत के स्वतंत्रता संग्राम में मुसलमानों का अहम योगदान रहा है और मुसलमानों ने हमेशा ही आपसी भाईचारे को बनाए रखने के लिए कुर्बानियां दी हैं।

उन्होंने कहा कि इस्लाम धर्म को आतंकवाद से जोडऩा निंदनीय है, आतंकवादियों का कोई धर्म नहीं होता। नायब शाही इमाम मौलाना उसमान ने कहा कि विदेशी आतंकियों को रोकने के लिए जरूरी है कि देश में छुपे हुए उन गद्दारों को बेनकाब किया जाए जो कि चांदी के चंद सिक्कों की खातिर अपना इमान बेचते हैं और देश से गद्दारी करते हैं।

उन्होंने कहा कि ये गद्दार अंग्रेज के समय से ही दुश्मनों के टोडी बने हुए है। इस अवसर पर अहरार पार्टी के प्रदेश अध्यक्ष नियुक्त होने पर अब्दुल नूर ने हाई कमान का धन्यवाद करते हुए कहा कि वह उन पर डाली इस बड़ी जिम्मेदारी को तन-मन-धन से निभाने की कोशिश करेगें। अब्दुल नूर ने कहा कि ये मेरे लिए गर्व व सम्मान की बात है कि स्वतंत्रता सेनानियों की पार्टी मजलिस अहरार में सेवा निभाने का अवसर मिल रहा है।

इस अवसर पर डा. मोती उर रहमान, मुहम्मद अजमल, शौकत अली, कासिम अली, अब्दुल मलिक, नईम अहमद व लुधियाना से शाही इमाम पंजाब के मुख्य सचिव मुहम्मद मुस्तकीम अहरारी विशेष रूप में उपस्थित थे।
फोटो  : अमृतसर में लुधियाना से पहुंचे नायब शाही इमाम मौलाना उसमान रहमानी अब्दुल नूर को नियुक्ति पत्र सौंपते हुए।

No comments:

Post a Comment

Tags

Recent Post