Latest News

Friday, 4 November 2016

शरीयत मे दखल देने का किसी को हक़ नही-राशिद रज़ा


मुरादाबाद/ठाकुरद्वारा- केन्द्र सरकार द्वारा तीन तलाक के मामले मे तब्दीली किये जाने और मुस्लिम पर्सनल लॉ मे दखल अंदाज़ी किये जाने का मुस्लिम समाज मे चौतरफा विरोध किया जा रहा है। केन्द्र सरकार को नसीहत देते हुऐ मुस्लिम धर्मगुरुओं ने दो टूक कहा की हिन्दुस्तान का मुसलमान देश से सच्ची मोहब्बत करता है और संविधान और कानून का आदर भी करता है लेकिन शरीयत मे दखल किसी भी क़ीमत पर बर्दाश्त नही कर सकता।

शुक्रवार को शहर इमाम राशिद रज़ा ने मुस्लिम समुदाय के हज़ारो लोगो को संबोधित करते हुऐ कहा की मुसलमान क़ौम के लिये शरीयत मे बदलाव की बात सोचना भी गुनाह है मुसलमान सब कुछ बर्दाश्त कर सकते है लेकिन शरीयत मे किसी की भी दख़ल बर्दाश्त नही की जाऐगी।इस दौरान उन्होंने कहा की सारे देश का मुसलमान इस मामले मे एक साथ है किसी भी हाल मे इसे लागू नही होने दिया जाऐगा।इस दौरान गुफरान खाँ, हाजी जलील,किफ़ायत उल्ला खाँ, हाजी सलीम अब्बासी,महमूद खाँ, सलीम खाँ, इरफ़ान खाँ, अक़बर अली ,अलीहुसैन,नफीस खाँ आदि मौजूद रहें।

No comments:

Post a Comment

Tags

Recent Post