Latest News

Saturday, 10 December 2016

मुरादाबाद-अपने ही निकले युवती के क़ातिल, प्रेमी से बात करता देख बेटी को मार डाला

मुरादाबाद। भगतपुर मे पुआल के ढेर में रखकर जलाकर  मारी गई युवती की पहचान हो गई है। प्रेमी से बाते करते देख लेने पर परिजनों ने ही उसे मौत के घाट उतारा था। आज पुलिस ने मामले का खुलासा किया है।

बता दे भगतपुर थाना क्षेत्र के गांव कूकरझुंडी मे गाँव निवासी ऊदल सिंह के खेत मे पांच दिसम्बर की सुबह करीब पाँच बजे सरसों के खेत मे रखी पुआल में एक अज्ञात युवती का शव जलता हुआ मिला था।

खेत स्वामी की सूचना पर पहुंची पुलिस ने जलता हुआ शव निकाल कर उसकी  शिनाख्त कराने की कोशिश की थी लेकिन सफलता नही मिली तब पुलिस ने आज्ञात में मामला दर्ज किया था ओर शव को पीएम के लिए भेजकर आगे की कार्यवाही शुरू कर दी थी।

पुलिस युवती की हत्या की हर एंगल से जांच कर रही थी ओर इस हत्या का जल्द ही खुलासा करना चाहती थी इसी लिये पुलिस ने आसपास के सभी थानों में इस की सूचना पहुँचा दी  थी पुलिस ने सोशल मीडिया का भी सहारा लिया था।

पुलिस की मेहनत सफल होती तब नजर आई जब गाँव मे लोगों में आपस मे सुगबुगाहट शुरू हुई।पुलिस ने गांव मे अपने मुखबिर भी लगा दिए थे।  तभी पुलिस को सूचना मिली की गाँव निवासी देवराज सिंह की पुत्री उसी दिन से गायब है।युवती के गाँव के ही निवासी युवक से संबंध थे पुलिस ने देवराज ओर उसकी पत्नी लज्जावती से व अन्य लोगों से पूछताछ की लेकिन परिजन बेटी के बारे मे कुछ नही बता पाए।

जब पुलिस ने सख्ती से पूछताछ की तब उन्होंने मृतका की पहचान बेटी शिवानी के रूप मे की।इसके अलावा पूरी सच्चाई भी उगल दी। पुलिस ने बताया कि शिवानी (20) बी ए की छात्रा थी उसके गांव के एक युवक से प्रेम संबंध थे।

शिवानी अक्सर प्रेमी से फोन पर बात करती थी। लेकिन परिजन इसका विरोध करते थे घटना बाली रात भी युवती को प्रेमी से बात करते रंगे हाथों पकड़ लिया था।बेटी की इस हरकत को परिजन बर्दाश्त नही कर पाए ओर उन्होंने बेटी की घर मे ही हत्या कर दी।

इसके बाद उसकी लाश को खेत मे ले जाकर पुआल के ढेर में रखकर आग लगा दी। पुलिस ने युवती के शव को शुक्रवार को परिजनों को सौंप दिया उन्होंने शव का अंतिम संस्कार कर दिया।

प्रेस नोट जारी कर मुरादाबाद पुलिस ने बताया कि अभियुक्त ऊदल सिंह पुत्र शेर सिंह (मृतका का दादा) व लज्जादेवी पत्नी देवराज सिंह (मृतका की मां) को थानाध्यक्ष भगतपुर द्वारा मय हमराही पुलिस बल के मुखबिर की सूचना पर ग्राम कुकुरझुण्डी से समय 08.30 बजे गिरफ्तार किया गया। शेष अभियुक्तगण की गिरफ्तारी के प्रयास जारी हैं।


सारे घटना क्रम के दौरान हत्यारा दादा उदल सिंह घटना स्थल पर ही मौजूद रहा और पुलिस ग्रामीण तथा पत्रकारों को झूठी कहानी सुनाता रहा। लेकिन भगतपुर पुलिस की सूझबूझ ने आख़िर बेटी के हत्यारो को बेनक़ाब कर बड़ा खुलासा किया है।

No comments:

Post a Comment

Tags

Recent Post