Latest News

Saturday, 24 December 2016

मुरादाबाद-खण्ड शिक्षा अधिकारी के औचक निरीक्षण मे कहीं गुरूजी नदारद तो कहीं बन्द मिला विधालय



मुरादाबाद/ठाकुरद्वारा-खण्ड शिक्षा अधिकारी ने तहसील क्षेत्र के विधालयो का आकस्मिक निरीक्षण किया जिसने तहसील क्षेत्र के अधिकारियों की पोल खोल कर रख दी।

शनिवार को खण्ड शिक्षा अधिकारी प्रदीप गंगवार ने कई विद्यालयों का आकस्मिक निरीक्षण किया ,इस दौरान खण्ड शिक्षा अधिकारी को प्राथमिक विधालय बलिया मे कार्यरत अध्यापिका लता रानी बिना प्रार्थना पत्र के अनुपस्थित पायी गई जिनका एक दिन का वेतन काटने की संस्तुति की गई तथा चपरासी निपेन्द्र सिंह को सात दिसम्बर से अनुपस्थित पाया गया जिसके खिलाफ़ एक माह का वेतन काटने  तथा विभागीय कार्यवाही के लिए संस्तुति दी गयी, साथ ही बल्लभगढ़ स्थित प्राथमिक विधालय मे अध्यापिका शशि वर्मा 9 दिसम्बर से लगातार अनुपस्थित पायी गयी जिनकी एक माह का वेतन रोकने व विभागीय कार्यवाही की संस्तुति की गई तथा प्राथमिक विधालय रायभूड़ मे 13 नबम्बर से मिड डे मील नही बनाना पाया गया,प्राथमिक विधालय मंझरा रायभूड़ मे सहायक अध्यापक दामोदर सिंह बिना प्रार्थना पत्र के अनुपस्थित पाऐं गऐ जिनका एक माह का वेतन रोकने की संस्तुति की गयी।प्राथमिक विधालय काजीपुरा मे सहायक अध्यापक ग़ुलाम नबी बिना प्रार्थना पत्र दिये अनुपस्थित पाऐं गऐ जिनका दिसम्बर माह का वेतन रोकने की संस्तुति दी गयी। वहीँ उच्च प्राथमिक विधालय रफायतपुर काजीपुरा निरीक्षण के दौरान बन्द पाया गया जहाँ 44 बच्चे स्वयं अध्यनन कर रहे थे जबकि कार्यालय बन्द होने के कारण अभिलेखों का अध्यनन किये बिना ही खण्ड शिक्षा अधिकारी को लौटना पड़ा विधालय मे कार्यरत नरेन्द्र कुमार एव रीतू वर्मा को निलंबित करने की संस्तुति की गयी है। निरीक्षण के बाद खण्ड शिक्षा अधिकारी ने रिपोर्ट जिला बैसिक शिक्षा अधिकारी को सौंप दी है। वहीँ विभाग के इस निरीक्षण से हुऐ खुलासे के बाद ये सवाल उठना लाज़मी है कि हर माह सरकार से मोटी रक़म लेने वाले ये लापरवाह शिक्षक आख़िर किस दिन अपने कर्तव्यों का पालन करेंगे ऐसे मे देश का भविष्य कहे जाने वाले बच्चों का भविष्य क्या ये सवार पाऐंगे या यूँ ही गरीबों के बच्चों के भविष्य से खिलवाड़ होता रहेगा और ये लापरवाह शिक्षक सरकार की हर माह दी जाने वाली मलाई यूँ ही चाटते रहेंगे।

फोटो-आकस्मिक निरीक्षण के दौरान बन्द पड़ा विधालय व मौजूद खण्ड शिक्षा अधिकारी


No comments:

Post a Comment

Tags

Recent Post