Latest News

Wednesday, 11 January 2017

जांबाज़ दरोगा ने जान पर खेलकर गंगा मे बह रहे बच्चे को बचाया


हरिद्वार - जाके राखो सांईयाँ मार  सके ना कोई आज कहावत बालक शैलेश पर सही साबित हुई । मामला निरंजनी अखाड़ा के निकट घाट का है। शैलेश (4) अपनी माँ और बहन (6) के धूप का आनन्द ले रहे थे। तभी शैलेश(4) खेलते-खेलते गंगा नदी की चपेट में गया। शैलेश घाट पर लगी रेलिगं के बीच से छटक के गंगा की मुख्य धारा मे बहता चला गया।
इस घटना स्थल पर चीख़ पुकार मच गयी। बालक को बहता देख उसकी माँ ने नदी में बचाने के लिए छलाँग लगा दी। अपने को लहरों मे घिरता देख और पानी अधिक ठंडा होने के कारण बमुसकिल वापिस आ पायी, तब तक बालक नदी की धारा में बहुत आगे बह गयी था।

स्पेशल सैल के उप-निरीक्षक शिशुपाल सिंह रावत अपने ज़िला कार्यालय जा रहे थे तभी चीख़ पुकार सुन घाट की और बड़े, उप-निरीक्षक गंगा व घाट के आसपास के क्षेत्र को अच्छी तरह जानते थे जिसका लाभ बालक को बचाने में कारगर साबित हुआ।बच्चे को बंगाली हॉस्पिटल हरिद्वार लाया गया जिससे बच्चे की हालत देख डाक्टर ने 72 घण्टे में बच्चे के स्वस्थ होने की उम्मीद की है।

सेवा सुरक्षा ओर मित्रता ।
उत्तराखंड पुलिस ने अपना फर्ज अदा किया।

No comments:

Post a Comment

Tags

Recent Post